Ajab GazabIndia

भाजपा की जीत को लेकर प्रशांत किशोर ने कर दी भविष्यवाणी, 4 जून को ये होगा नतीजा

नई दिल्ली: देश में लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections 2024) के लिए 4 चरण के मतदान हो चुके हैं. 3 चरण के चुनाव होने बाकी हैं. देश भर की 380 सीटों पर चुनाव हो चुके हैं. इस बीच राजनीति के चाणक्य माने जाने वाले प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने बीजेपी को लेकर बड़ी भविष्यवाणी की है. प्रशांत किशोर ने लोकसभा चुनाव में ओडिशा, पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश को लेकर बड़ी भविष्यवाणी की है. साथ ही उन्होंने उत्तर और पश्चिम भारत के राज्यों में होने वाले चुनाव परिणाम को लेकर भी भविष्यवाणी की है.

न्यूज वेबसाइट Etv Bharat की खबर के अनुसार राजनीतिक रणनीतिकार प्रशांत किशोर ने कहा है कि तेलंगाना, ओडिशा, पश्चिम बंगाल और आंध्र प्रदेश में भाजपा की सीटें बढ़ रही हैं. उन्होंने कहा कि बीजेपी पूर्व और दक्षिण में काफी बढ़त हासिल कर रही है, जहां वह परंपरागत रूप से कमजोर रही है. दक्षिण भारत और पूर्वी भारत में वोट शेयर और सीट शेयर दोनों बढ़ रहे हैं. तमिलनाडु में भी बीजेपी का वोट शेयर बढ़ेगा. साथ ही उन्होंने कहा है कि मैं उत्तर और पश्चिम भारत में बीजेपी को ज्यादा सीटें हारते हुए नहीं देख रहा हूं, जो पहले से ही बीजेपी का गढ़ रहा है.

प्रशांत किशोर ने कहा कि जो कह रहे हैं कि बीजेपी इस बार 200 सीट भी जीत नहीं पाएगी, उन्हें बताना चाहिए कि बीजेपी मौजूदा 300 सीटों में से 100 सीटें कहां हार रही है? पीके ने कहा, दक्षिण और पूर्व में भाजपा का वोट शेयर और सीटें बढ़ेंगी. बीजेपी की सीटों में कोई बड़ा बदलाव होता हुआ नहीं दिखा रहा है.

पहले भी बंगाल में बीजेपी की जीत का दावा कर चुके हैं पीके
लोकसभा चुनाव की शुरुआत के दौरान पिछले महीने भी पीके ने बंगाल में बीजेपी की जीत का दावा किया था. उन्होंने कहा था कि बीजेपी पश्चिम बंगाल में नंबर-1 पार्टी बन सकती है. पीटीआई को दिए एक इंटरव्यू में प्रशांत किशोर ने कहा था कि बीजेपी ने पिछले कुछ सालों में दक्षिण और पूर्वी भारत में अपनी उपस्थिति बढ़ाने के लिए कड़ी मेहनत की है. इस बार पार्टी को इसका लाभ मिल सकता है. प्रशांत किशोर ने कहा था कि उनको लगता है कि बीजेपी बंगाल में नंबर-1 पार्टी बनकर उभरेगी.

बीजेपी की 370 सीट जीतने की नहीं है संभावना: PK

हालांकि पीके ने कुछ ही दिन पहले कहा था कि भाजपा के अपने लक्ष्य के मुताबिक, 370 सीट जीतने की संभावना नहीं है. लेकिन उस दौरान भी उन्होंने तेलंगाना और आंध्रप्रदेश में बीजेपी की सफलता का दावा किया था. उस दौरान उन्होंने आंध्रप्रदेश विधानसभा चुनाव को लेकर कहा था कि मुख्यमंत्री जगन मोहन रेड्डी के लिए सत्ता में वापस आना ‘बहुत मुश्किल’ होगा.

पूर्वी राज्यों का क्या है समीकरण?
प्रशांत किशोर ने बंगाल और ओडिशा में बीजेपी की जीत का दावा किया है. साथ ही उन्होंने कहा है कि जिन राज्यों में बीजेपी पहले से अच्छी हालत में है उन जगहों पर भी सीट में कोई कमी के बहुत उम्मीद नहीं है. गौरतलब है कि बिहार, झारखंड, बंगाल और ओडिशा की अगर बात करें तो इन राज्यों में लोकसभा की कुल 117 सीटें हैं. पिछले लोकसभा चुनाव में एनडीए को 77 सीटों पर सफलता मिली थी. बिहार की 40 में से 39 सीटों पर एनडीए को जीत मिली थी. झारखंड की 14 में से 12 सीटों पर एनडीए को जीत मिली थी. बंगाल की 42 में से 18 सीटों पर बीजेपी को जीत मिली थी. ओडिशा की 21 सीटों में से बीजेपी को 8 सीटों पर जीत मिली थी. इन 4 राज्यों में अभी भी ऐसी 40 सीटें हैं जहां बीजेपी को पिछले चुनाव में जीत नहीं मिली थी. एनडीए के मिशन 400 को लेकर बीजेपी इन क्षेत्रों में विस्तार चाहती है. प्रशांत किशोर खासकर बंगाल और ओडिशा में बीजेपी की सफलता की भविष्यवाणी कर रहे हैं.

किस राज्य में कितनी सीटें बढ़ाने का है बीजेपी का लक्ष्य?

भारतीय जनता पार्टी और एनडीए की तरफ से बंगाल की 42 में से 18 सीटों पर जीत का लक्ष्य रखा गया है. ओडिशा में भी बीजेपी का मिशन 15 सीट है. ऐसे में ओडिशा से भी 7 सीटों की बढ़ोतरी की उम्मीद बीजेपी कर रही है. तेलंगाना में भी बीजेपी 2 अंकों में सीटों को पहुंचाना चाहती है. आंध्र प्रदेश की भी 25 सीटों में इस बार एनडीए को बड़ी जीत की उम्मीद है.

पीएम मोदी ने भी इन राज्यों में जीत का किया था दावा
पीएम मोदी ने एनडीटीवी के साथ बात करते हुए कहा कि तेलंगाना और आंध्रप्रदेश जैसे राज्यों में हमें ऐसी सफलता मिलेगी जिसकी लोग कल्पना भी नहीं कर रहे होंगे. हालांकि प्रशांत किशोर ने तमलिनाडु में भी बीजेपी के वोट शेयर में बढ़ोतरी का दावा किया है.

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply