Ajab GazabDharamIndia

भारत में इन जगहों पर रहने के लिए नहीं देने पड़ते हैं पैसे, बिल्कुल फ्री में मिलती है सभी सुविधाएं, यहां देखें सूची

जब भी हम अपनी मनपसंद जगह पर घूमने जाते हैं तो वहां आने जाने के खर्चे के साथ-साथ होटल में रहने और खाने का खर्चा भी अच्छा खासा हो जाता है। हजारों रुपए हमें होटल में रहने और खाने के लिए खर्च करने पड़ते हैं। कई बार तो ऐसा होता है कि आने जाने से कहीं ज्यादा खर्च सिर्फ रहने और खान पान का हो जाता है।

Himachali Khabar/ Lifestyle: आज के समय में हर किसी को घूमना फिरना बहुत पसंद होता है जिसके कारण पर्यटक स्थलों पर होटल और रिसॉर्ट का व्यवसाय दिन-ब-दिन बढ़ता जा रहा है जहां ठहरने और खाने पीने के लिए आपको एक मोटी रकम खर्च करनी होती है।

हमारे देश में कुछ ऐसी जगह भी हैं जहां आप बिल्कुल फ्री में रह सकते हैं। तो यदि आप भी कोई ट्रिप प्लान कर रहे हैं तो पहले इन सभी जगहों की एक लिस्ट तैयार करें जिससे आप अपने हजारों का खर्चा बचा सकें। आज के आलेख में हम आपको कुछ ऐसी विशेष जगहों की जानकारी देंगे जहां आप बिना एक भी पैसा खर्च किए बिल्कुल फ्री में बाकायदा रह और खा सकते हैं।

उत्तराखंड का गोविंदा घाट गुरुद्वारा

यदि आप हेमकुंड साहिब जाना चाहते हैं या फूलों की घाटी में ट्रैकिंग का मन बनाया हो तो अलकनंदा नदी के किनारे बना यह गुरुद्वारा आपको रहने और खाने की मुफ्त सुविधा प्रदान करता है। यह गुरुद्वारा चमोली जिले में स्थित है।

गुजरात में गुरुद्वारा भाई मोहकम सिंह जी

यदि आप गुजरात की यात्रा करना चाहते हैं तो इस गुरुद्वारे में अब बिल्कुल मुफ्त में रह सकते हैं और साथ ही यहां पर भोजन के लिए भी किसी प्रकार के कोई पैसे नहीं लिए जाते।

गीता भवन ऋषिकेश

गंगा नदी के तट पर स्थित गीता भवन में तीर्थ यात्रियों और पर्यटकों के लिए लगभग 1000 कमरे बनाए गए हैं और यहां पर रहने के साथ-साथ भोजन भी पूरी तरह से निशुल्क दिया जाता है।

केरल का आनंद आश्रम

यदि आप केरल जाने के बारे में सोच रहे हैं तो आनंद आश्रम में आपको खाना और बिस्तर बिल्कुल मुफ्त में उपलब्ध कराए जाते हैं। यदि कोई चाहे तो आश्रम में अपनी स्वेच्छा से काम कर सकता है।

हिमाचल प्रदेश में मणिकरण साहिब गुरुद्वारा

अगर आप हिमाचल प्रदेश में घूमने गए हैं तो आप मणिकरण साहिब गुरुद्वारा में रुक सकते हैं। यहां पर्यटकों को निःशुल्क आवास, भोजन और पार्किंग की सुविधा प्रदान की जाती है। Himachali Khabar/ Lifestyle

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply