HealthIndia

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए इस प्रकार हरा प्याज खाएं,आप मिलेगा फायदा.

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए इस प्रकार हरा प्याज खाएं,आप मिलेगा फायदा.

 सब्जियाें का स्वाद बढ़ाने वाला आैर सलाद के ताैर पर खाया जाना वाला प्याज आैषधीय गुणाें से भी भरपूर हाेता है। पुराने समय से ही प्याज का प्रयाेग सब्जी बनाने के अलावा कर्इ तरह के राेग दूर करने के लिए किया जाता रहा है। आइए जानते हैं प्याज के फायदाें के बारे में :-

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए इस प्रकार हरा प्याज खाएं,आप मिलेगा फायदा

मेडिसिनल वैल्यू
प्याज में केलिसिन और रायबोफ्लेविन (विटामिन-बी) पर्याप्त मात्रा में होते हैं। इसमें 11 प्रतिशत कार्बोहाइड्रेट होता है व एलिल-प्रोपाइल-डाय-सल्फाइड के कारण इसमें गंध आती है। प्याज में अमीनो एसिड सल्फॉक्साइड होता है जो इसमें सल्फीनिक एसिड को बनाता है। इसी वजह से इसे काटते समय आंसू आते हैं।

न्यूट्रीशनल वैल्यू

– सल्फ्यूरिक कंपाउंड, फॉस्फोरस, सल्फर और मैगनीज, विटामिन।

फायदे
– नेचुरल एंटीबायोटिक।
– इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है।
– गंभीर बीमारियों के संक्रमण से बचाता है।
– कोलेस्ट्रॉल के स्तर को नियंत्रित रखता है।
– ब्लड प्रेशर को कंट्रोल करता है।

What's Fresh? Green Onions! | Chequamegon Food Co-op

प्याज खाने के तरीके
कच्चा प्याज:
यह प्याज पके हुए प्याज से भी ज्यादा गुणकारी माना जाता है क्योंकि पकने के बाद इसमें मौजूद पोषक तत्वों में कमी आ जाती है। कच्चा प्याज गर्मियों में बहुत अच्छा होता है और लू लगने की समस्या से बचाता है।

पका प्याज:
ये दुनियाभर में अलग-अलग व्यंजनों का जरूरी हिस्सा है। इससे भोजन में स्वाद बढ़ता है लेकिन फायदे कम मिलते हैं।

सप्लीमेंट के रूप में: जिन लोगों को प्याज खाने से गंध या स्वाद की परेशानी होती है उनके लिए ये अच्छे विकल्प होते हैं।

प्रति 100 ग्राम प्याज में पाए जाने वाले पोषक तत्व
– प्रोटीन 1.2 ग्राम
– कार्बोहाइड्रेट 11.1 मि.ग्रा.
– विटामिन 15 मि.ग्रा.
– वसा 0.1 ग्राम
– कैल्शियम 46.9 मिग्रा.
– खनिज 0.4 ग्राम
– फॉस्फोरस 50 मि.ग्रा.
– कैलोरी 50 मि.कै.
– फाइबर 0.6 ग्राम
– लौह 0.7 मि.ग्रा.
– पानी 86.6 ग्राम

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए इस प्रकार हरा प्याज खाएं,आप मिलेगा फायदा

हरा प्याज खाने के कई फायदे
यह कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बनाए रखता है। एंटी बैक्टीरियल गुणों के कारण यह पाचन में सुधार करता है। इस प्याज में पाया जाने वाला सल्फर ब्लडप्रेशर को कंट्रोल करने के लिए लाभकारी है। हरा प्याज खाने से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है और चेहरे पर झुर्रियां नहीं आतीं। इसे सब्जी, सलाद या पुलाव आदि में प्रयोग किया जा सकता है।

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply