India

शर्मनाक! नाबालिग से गैंगरेप कर भट्टी में जलाया, हड्डियों को तालाब में फेंका

शर्मनाक! नाबालिग से गैंगरेप कर भट्टी में जलाया, हड्डियों को तालाब में फेंका

Bhilwara Bhatti kand : राजस्थान के शाहपुरा जिले में पिछले साल 2 अगस्त को दिल दहला देने वाली घटना सामने आई थी। जिसने पूरे राजस्थान के साथ पूरे देश को हिलाकर रख दिया था। राजस्थान के इस चर्चित भट्टी कांड पर आज कोर्ट का बड़ा फैसला आ सकता है। गैंगरेप के बाद नाबालिग लड़की को कोयले की भट्टी में जिंदा जलाने के मामले में भीलवाड़ा पोक्सो कोर्ट 2 में आज विशेष सुनवाई चल रही है। जिस पर सबकी निगाहें टिकी है।

नाबालिग लड़की को गैंगरेप के बाद कोयले की भट्टी में जिंदा जलाने का मामला सामने आने पर पुलिस ने एक महीने के अंदर 473 पन्नों की चार्जशीट दाखिल की थी। जिसमें कई चौंकाने वाले खुलासे हुए थे। कोर्ट ने भी इस हत्याकांड को ए श्रेणी का अपराध माना था। इस मामले में करीब 10 माह से चल रही सुनवाई अब पूरी हो चुकी है। भीलवाड़ा पॉक्सो कोर्ट संख्या-2 आज सभी 9 आरोपियों पर फैसला सुनाएगी।

43 गवाहों में से एक पक्षद्रोही करार जयपुर के विशेष लोक अभियोजक महावीर किसनावत ने बताया कि इस मामले में सरकार की ओर से 43 गवाहों के बयान दर्ज किए गए। इनमें से 42 गवाहों ने अभियोजन पक्ष के साक्ष्यों की पुष्टि की। 9 महिला-पुरुष मुलजिमान की ट्रायल पॉक्सो कोर्ट 2 में सुनवाई जारी थी, जिसमें राज्य सरकार की ओर से 43 गवाहों के बयान पंजीबद्ध करवाए गए थे। इस मामले में एक महिला गवाह ने अभियोजन साक्ष्य के खिलाफ बयान दिया। जिस पर महिला गवाह को पक्षद्रोही पाया गया। क्योंकि वह महिला गवाह प्रकरण के मुख्य अभियुक्त की सास थी।

9 आरोपियों पर आएगा फैसला इस जघन्य हत्याकांड की जांच भीलवाड़ा के पुलिस उपाधीक्षक श्याम सुंदर बिश्नोई ने की थी। जिसकी माॉनीरिटरिंग एडीजी क्राइम दिनेश एमएन व अजमेर रेंज आईजी लता मनोज ने की थी। इस केस में मुख्य आरोपी कान्हा कालू सहित 9 लोगों को आरोपी बनाया गया था। जिसमें आरोपियों की पत्नी, बहन, मां-पिता व अन्य लोग शामिल है।

इन सभी 9 आरोपियों पर कोर्ट आज फैसला सुनाएगी
ये था मामला शाहपुरा जिले के कोटडी थाना क्षेत्र में 2 अगस्त 2023 को दिल दहला देने वाला मामला सामने आया था। गिरडिया पंचायत की एक नाबालिग जब खेत में बकरी चराने गई थी, तब दो लोगों ने उसके साथ गैंगरेप किया और बेहोशी की हालत में कोयले की भट्टी में झोंक दिया। इस कांड में आरोपियों की पत्नी ने भी साथ दिया। आरोपियों ने बच्ची को भट्टी में जलाने के बाद उसके शेष बचे बॉडी पार्ट्स को तालाब में फेंक दिए। नाबालिग शाम तक घर नहीं लौटी तो परिजनों ने उसकी तलाश की।

करीब रात 10 बजे जब परिजन बच्ची की तलाश कर रहे थे तो कालबेलियों के डेरे में भट्टी जलती दिखी। जिस पर उन्हें शक हुआ। इसके बाद भट्टी के पास पहुंचे तो बच्ची के जूते मिले। साथ ही भट्टी में चांदी का कड़ा और हड्डी के कुछ टुकड़े मिले। जिस पर बवाल मच गया और पुलिस को सूचना दी। अगले दिन खेत पर संचालित कोयले की भट्टी में कुछ शरीर के टुकड़े मिले। बाद में पुलिस ने तालाब से भी कुछ अवशेष बरामद किए थे।
ये खबरें भी पढ़ें – सट्टा बाजार ने घटाई BJP की सीटें-देंखे राज्यवार आंकडे
कैंसर की पहली स्टेज में शरीर में दिखाई देते हैं ये 8 बदलाव, जरूर जानें

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply