HealthIndia

सिर के नीचे तकिया रखकर सोने से होते हैं यह नुकसान.

सिर के नीचे तकिया रखकर सोने से होते हैं यह नुकसान.

 तकिया लगा कर सोना किसे अच्छा नहीं लगता है क्योंकि तकिया से आरामदायक नींद मिलती है और सपने भी अच्छे आते हैं। जितनी ज्यादा सॉफ्ट तकिया होती है नींद उतनी ही अच्छी आती है आजकल कितने लोग ऐसे हैं जो बिना तकिया लगाए सोते ही नहीं हैं परंतु आप यह नहीं जानते हैं कि तकिया लगाकर सोने से कितने बड़े नुकसान होते हैं आज हम इन नुकसानों के बारे में बताएंगे।

  • तकिया भले ही गले और गर्दन को आराम पहुंचाता है लेकिन यही तकिया आगे चलकर बड़ी से बड़ी समस्या खड़ी कर देता है। तकिया लगाने से मानसिक और शारीरिक दोनों तरह की बीमारी खड़ी कर देती है। यदि तकिया सही तरीके से नहीं लगाई है या फिर तकिया का आकार छोटा बड़ा हो रहा है या तकिए की गलत पोजीशन की वजह से गर्दन पर जोर पड़ता है। इसी वजह से आप लोग रात में सोने के बाद जब सुबह उठते हैं तो अपने आप को तरोताजा महसूस नहीं कर पाते हैं जो आपके तनाव का सबसे बड़ा कारण बनता है।

स्किन पर एलर्जी होना

  • आपको बिना तकिए के सोना चाहिए क्योंकि तकिया लगाकर आप सोएंगे तो उसका असर आपके चेहरे की त्वचा पर सबसे ज्यादा होता है। क्योंकि तकिये पर बहुत सी धूल, मिट्टी जमा होती है जो हमारे चेहरे पर लग जाती है और एलर्जी जैसी बीमारी पैदा करती है। इसके साथ साथ चेहरे पर कील मुहासे और दाग धब्बे निकलने का डर लगा रहता है।

झुर्रियां पड़ जाना

  • आप तो जानते ही हैं तकिया लगाकर सोने से चेहरा दबने लगता है जिसकी वजह से चेहरे पर झुर्रियां निकल आती हैं।

रीड में दर्द होने लगता है

  • जब हम तकिए का इस्तेमाल करते हैं तब गर्दन और रीढ़ की हड्डी एक सीध में नहीं रहती हैं। जिसकी वजह से हमें पीठ में दर्द होने लगता है। परंतु बिना तकिया की सोने पर गर्दन और रीढ़ की हड्डी एक समान और एक ही स्थिति में रहती हैं।

अच्छी नींद आती है

  • विशेषज्ञों का मानना है कि बिना तकिए के सोने से आपको आरामदायक नींद मिलती है जो आपके स्वास्थ्य और आपके मूड को अच्छा करती है।
  • अब तो अब जान गए होंगे कि बिना तकिए के सोने से क्या क्या लाभ मिलता है।

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply