HealthIndia

हल्दी वाला दूध या हल्दी वाला पानी, जानें आपकी सेहत के लिए कौन-सा बेहतर है?


हल्दी एक चटख पीले रंग का मसाला है, जो सदियों से भारतीय रसोईघरों का राजा रहा है. इसका इस्तेमाल कई तरह की बीमारियों से लड़ने और अच्छी सेहत यानी संपूर्ण स्वास्थ्य को बढ़ावा देने के लिए किया जाता है. लेकिन हल्दी के फायदे उठाने की बात आती है, तो दो लोकप्रिय विकल्प सामने आते हैं: हल्दी दूध और ताजगी देने वाला हल्दी पानी.

दोनों ड्रिंक ही कई तरह के फायदे बताते हैं, लेकिन आखिर कौन सा बेहतर है? हैदराबाद के CARE हॉस्पिटल्स की क्लिनिकल डाइटिशियन डॉ. जी. सुषमा का कहना है कि यह चुनना आपकी पर्सनल जरूरतों और आप ड्रिंक्स से जो स्वास्थ्य लाभ पाना चाहते हैं, उस पर निर्भर करता है.

हल्दी वाला दूध क्यों फायदेमंद है : सूजन कम करने वाले गुण: हल्दी में कर्क्यूमिन होता है, जो अपने सूजन-रोधी गुणों के लिए जाना जाता है. हल्दी दूध का सेवन गठिया और जोड़ों के दर्द जैसी सूजन संबंधी समस्याओं को कम करने में मदद कर सकता है.

इम्यूनिटी बूस्टर: हल्दी एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर होती है और इसमें इम्यून सिस्टम बढ़ाने वाले गुण होते हैं. नियमित रूप से हल्दी दूध पीने से इम्यूनिटी मजबूत हो सकती है, जिससे शरीर संक्रमण और बीमारियों से लड़ने में मदद मिलती है.

पाचन क्रिया बेहतर: हल्दी पित्त के उत्पादन को बढ़ावा देती है, जो पाचन में मदद करता है. हल्दी दूध पेट फूलना, गैस और अपच जैसी पाचन संबंधी समस्याओं को दूर करने में मदद कर सकता है.

नींद में सुधार: गर्म दूध का शांत प्रभाव होता है और जब इसे हल्दी के साथ मिलाया जाता है, तो यह विश्राम को बढ़ावा दे सकता है और नींद की क्वालिटी में सुधार कर सकता है.

हल्दी वाला पानी क्यों फायदेमंद है?
डिटॉक्सिफिकेशन: माना जाता है कि हल्दी में डिटॉक्सिफाइंग गुण होते हैं जो लिवर को साफ करने और शरीर में समग्र डिटॉक्सिफिकेशन प्रक्रिया को बेहतर बनाने में मदद करते हैं.

वजन कंट्रोल: कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि कर्क्यूमिन वजन कंट्रोल में मदद कर सकता है, मेटाबॉलिज्म को कंट्रोल करके और सूजन को कम करके.

हेल्दी स्किन: हल्दी पानी पीने से इसके सूजन-रोधी और एंटीऑक्सीडेंट गुणों के कारण साफ और चमकती स्किन मिल सकती है.

पाचन क्रिया में सुधार: हल्दी दूध की तरह, हल्दी पानी भी पित्त उत्पादन को बढ़ाकर और पाचन तंत्र में सूजन को कम करके पाचन में मदद कर सकता है.

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply