HealthIndia

5 लक्षणों से समझें आपको हो गया है स्टेज 1 कैंसर, ये 5 उपचार बचा लेंगे मरीज की जान

कैंसर खतरनाक और जानलेवा बीमारी है। इसे फैलने या मौत की वजह बनने से पहले सही समय पर इलाज जरूरी है। समस्या यह है कि कैंसर के शुरुआती संकेत और लक्षणों का सही समय पर पता नहीं चल पाता है। जब तक पता चलता है तब तक यह बाकी हिस्सों में फैल रहा होता है फैल चुका होता है।

चलिए जानते हैं कि कैंसर की पहली स्टेज में किसी को क्या-क्या संकेत और लक्षण महसूस हो सकते हैं और इस स्टेज में कैंसर के इलाज के लिए क्या-क्या विकल्प हैं।

Stage 1 cancer क्या है?
स्टेज 1 कैंसर वह कैंसर है जो छोटा होता है और एक हिस्से में होता है, जो लिम्फ नोड्स या शरीर के अन्य भागों में नहीं फैलता है। एक ही चरण के कैंसर का अक्सर एक जैसा इलाज किया जाता है। उदाहरण के लिए, स्टेज 1 कैंसर के उपचार में आम तौर पर सर्जरी शामिल होती है।

कैंसर होने से खुद को कैसे बचाएं

Cancer Prevention and Diagnosis : कैंसर होने से खुद को कैसे बचाएं, डॉक्टर से जानें

Stage 1 cancer के संकेत और लक्षण
बेवजह वजन कम होना (Ref)
हमेशा थकान और कमजोरी महसूस होना
बेवजह बुखार होना और पसीना आना
शरीर में हमेशा दर्द रहना
त्वचा के आकार या रंग में बदलाव होना

स्टेज 1 ब्रेस्ट कैंसर
ब्रेस्ट कैंसर की पहली स्टेज में ट्यूमर 2 सेमी तक का होता है और कोई लिम्फ नोड्स शामिल नहीं होते हैं। इसमें कैंसर की कोशिकाएं मूल स्थान से परे ब्रेस्ट के आसपास के ऊतकों में फैल जाती हैं।

स्टेज 1 लंग कैंसर और स्टेज 1 प्रोस्टेट कैंसर
स्टेज 1 लंग कैंसर का मतलब है कि कैंसर फेफड़ों के ऊतकों में बना हो सकता है लेकिन लिम्फ नोड्स में नहीं फैला है। स्टेज 1 प्रोस्टेट कैंसर का मतलब है कि कैंसर प्रोस्टेट तक ही सीमित है। डिजिटल रेक्टल टेस्ट के दौरान इसका पता नहीं लगाया जा सकता है और आमतौर पर इसके धीरे-धीरे बढ़ने की उम्मीद होती है।

स्टेज 1 कोलोरेक्टल कैंसर और स्टेज 1 मेलेनोमा कैंसर
इसका मतबल है कि कैंसर आंतों की दीवार में हो गया है। यह मांसपेशियों में भी प्रवेश कर सकता है। स्टेज 1 मेलेनोमा कैंसर का मतलब है कि कैंसर की कोशिकाएं त्वचा में विकसित हो गई हैं लेकिन लिम्फ नोड्स या शरीर के अन्य भागों में नहीं फैली हैं।

स्टेज 1 कैंसर का इलाज
स्टेज 1 कैंसर के उपचार के विकल्प कैंसर के प्रकार और स्थान पर निर्भर करते हैं। कुछ मामलों में, स्टेज 1 कैंसर उपचार में कीमोथेरेपी, रेडिएशन थेरेपी, दवाएं और सर्जरी जैसे उपचार शामिल होते हैं। चूँकि स्टेज 1 कैंसर फैला नहीं है इसलिए उपचार ज्यादा कठिन नहीं होते हैं। कुछ तरह के कैंसर के मामलों में जल्दी से उपचार शुरू नहीं होता है, डॉक्टर गंभीरता को नजर में रखते हैं, जिसे ‘वेट एंड वॉच’ कहा जाता है।

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply