Ajab GazabIndia

बराती ने बस की खिड़की से निकाला सिर बाहर, खंभे से टकराया, अलग जा गिरी गर्दन

बुलंदशहर जनपद के पहासू से पारिवारिक भाई की विवाह में अकराबाद क्षेत्र के गांव दुम्हेरी जा रहे युवक ने मतली होने पर चलती बस की खिड़की से सिर निकाला, तभी सड़क किनारे बिजली के खंभे से उसका सिर टकरा गया। इससे गर्दन धड़ से अलग हो गई। उसकी मौत से बरात की खुशियां मातम में बदल गईं। बरात वापस लौट गई। गमगीन माहौल में विवाह की रस्में अदा हुईं।

पहासू निवासी संजीव पुत्र बाबूलाल की बरात 26 अप्रैल को अकराबाद के दुम्हेरा गांव निवासी ओसपाल के यहां जा रही थी। बरात में दूल्हे के पारिवारिक भाई 25 वर्षीय सुमित पुत्र चंपालाल भी शामिल थे। रात करीब साढ़े दस बजे बरातियों से भरी बस हरदुआगंज क्षेत्र के महमूदपुर गांव में शराब ठेके से आगे निकली तभी सुमित को मतली होने का आभास हुआ। इस पर उसने चलती बस की खिड़की से गर्दन बाहर निकाली।

तभी सामने से आए किसी वाहन से बचने के लिए चालक ने बस को सड़क की साइड पर कर लिया। इससे सड़क किनारे खड़े बिजली के खंभे से सुमित का सिर टकराया। इसमें झटके से धड़ से कटकर सुमित की गर्दन दूर जा गिरी। इसके बाद धड़ भी खिड़की से नीचे गिर गया। पुलिस ने शव का पोस्टमार्टम कराया है। वह चार भाइयों में सबसे छोटे थे। वह पत्नी और एक साल की बेटी सहित परिवार वालों को रोता छोड़ गए हैं।

घटना से आधा घंटा पहले टूटा था खिड़की का शीशा
बरात में शामिल मृतक के मोहल्ले के निवासी पिंटू सिंह ने बताया कि इस घटना से करीब आधा घंटे पहले अचानक तेज आवाज हुई। सभी चौंके और देखा तो लगा कि किसी ने पत्थर फेंका होगा, जिससे बस की खिड़की का शीशा टूट गया होगा। जब सुमित का सिर खंभे से टकराया तो उसी तरह की तेज आवाज सुनाई पड़ी। इस सभी को फिर से शीशा टूटने जैसा लगा, लेकिन नीचे देखते ही सभी के रोंगटे खड़े हो गए।

himachalikhabar
the authorhimachalikhabar

Leave a Reply